Filmo Ka Khalnayak Sonu Poem

Filmo Ka Khalnayak Sonu Poem


filmo ka khalnayak sonu poem, poem on sonu sood, sonu sood poem, hindi poem, hindi poetry, hinhi kavita, sonu sood par kavita, sonu sood help, sonu sood help in lockdown, sonu sood help in corona covid

filmo ka khalnayak sonu poem

Filmo Ka Khalnayak Sonu Poem in Hindi
फिल्मो का खलनायक सोनू कविता


कोरोना महामारी के इस डरावने दौर में
जब चारों तरफ घूम रहे हैं यमदूत
तब वो लोगों की मदद कर रहा बनकर देवदूत
उस इंसान का नाम है सोनू सूद, सोनू सूद

लॉक डाउन में लोगों को खाना खिलाया
परदेसी मजदूरों को उनके घर भिजवाया
बस तो बस, हवाई जहाज भी चलवा दिया
इसने कई बिछड़ों को फिर से मिलवा दिया

अब महामारी काफी विकराल रूप ले रही है
दवा के साथ-साथ दुआ भी बेअसर हो रही है
दुवाओं का ही आसरा है, दवा की कमी बता रहे हैं
दवाओं के लिए भी अब लोग, इन पर ही भरोसा जता रहे हैं


बहुत से लोगों ने इस आपदा को अवसर बनाया है
पूरी उम्र में ना कमाया उससे अधिक कमाया है
मरीज अमीर हो या गरीब, जवान हो या बुजुर्ग, चाहे जैसा है
अवसरवादियों लिए तो जान की कीमत सिर्फ और सिर्फ पैसा है

जिनको करनी चाहिए थी मदद वो सभी गायब हो गए
जिन्हें हमने बनाया था साहब ना जाने वो कहाँ खो गए
इनकी जगह मदद कर ये "सूद" सहित दिलों में घर कर गया
फिल्मो का यह खलनायक "सोनू" ना जाने कब नायक बन गया

Filmo Ka Khalnayak Sonu Poem in English


corona mahamari ke is darawane daur me
jab charon taraf ghoom rahe hain yamdoot
tab vah logon ki madad kar raha bankar devdoot
us insaan ka naam hai sonu sood, sonu sood

lockdown me logon ko khana khilaya
pardesi majdooron ko unke ghar bhijwaya
bus to bus, hawai jahaj bhi chalwa diya
isne kai bichhdon ko phir se milwa diya

ab mahamari kafi vikraal roop le rahi hai
dva ke saath saath dua bhi beasar ho rahi hai
duaon ka hi aasra hai, dava ki kami bata rahe hain
davaon ke liye bhi ab log, in par hi bharosa jata rahe hain

bahut se logon ne is aapda ko avsar banaya hai
poori umra me bhi naa kamaya usse adhik kamaya hai
mareej ameer ho ya gareeb, jawan ho ya bujurg, chahe jaisa hai
avsarvadiyon ke liye to jaan ki keemat sirf or sirf paisa hai

jinko karni chahiye thi madad vo sabhi gaayab ho gaye
jinhe hamne banaya tha sahab vo naa jane kahan kho gaye
inki jagah madad kar ye "sood" sahit dilon me ghar kar gaya
filmo ka yah khalnayak "sonu" na jane kab naayak ban gaya

About Author

Ramesh Sharma
M Pharm, MSc (Computer Science), MA (History), PGDCA, CHMS

Connect with us

Follow Us on Twitter
Follow Us on Facebook
Subscribe Our YouTube Travel Channel
Subscribe Our YouTube Healthcare Channel

Disclaimer

इस लेख में दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. हमारा उद्देश्य आप तक सूचना पहुँचाना है अतः पाठक इसे महज सूचना के तहत ही लें. इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी.

अगर आलेख में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सम्बन्धी सलाह दी गई है तो वह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें.

आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं एवं कोई भी सूचना, तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार N24.in के नहीं हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति N24.in उत्तरदायी नहीं है.

0 Comments