Apne Gusse Par Control Kaise Karen?

Apne Gusse Par Control Kaise Karen?


apne gusse par control kaise karen, what is the easiest way to calm anger, how can calm anger, how to calm anger, way to calm anger, steps to calm anger, side effects of anger, methods to calm anger, how to control anger

apne gusse par control kaise karen

क्रोध को शांत करने का सबसे आसान तरीका क्या है?


मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है और वह विभिन्न परिस्थितियों में रहकर अपना जीवन यापन करता है. उसके जीवन को कभी खुशी और कभी गम घेरे रहते हैं.

कई मर्तबा परिस्थितियाँ उसके अनुकूल नहीं होती है और मनुष्य एक ऐसा रूप धारण कर लेता है जो किसी को प्रिय नहीं होता, वह रूप क्रोध का होता है.

जब क्रोध उत्पन्न होता है तभी से मनुष्य मूर्खता करना प्रारम्भ कर देता है. इस मूर्खता में उसे अपने पराये तक का भान नहीं रहता है.

क्रोध में व्यक्ति को सत्य और असत्य का कोई ज्ञान नहीं रहता है एवं उसे स्वयं की कही बातें सत्य प्रतीत होती है. क्रोधी व्यक्ति यह नहीं जानता कि वह अपना स्वयं का खून जला रहा है.

Side effects of anger


क्रोध एक भयंकर अग्नि के माफिक होता है जो मनुष्य को अन्दर ही अन्दर जला डालता है. जब क्रोध आता है तो दिमाग के सारे विचार क्षेत्र अपना कार्य करना बंद कर देते हैं और मनुष्य दूसरों के बनिस्पत खुद का सर्वाधिक अहित कर बैठता है.

जब क्रोध दिमाग पर हावी हो जाता है तो बुद्धि अपना स्थान छोड़ देती है और सारा विवेक समाप्त प्राय: हो जाता है.

इसलिए किसी भी व्यक्ति के प्रति मन में क्रोध रखनें की अपेक्षा उस व्यक्ति से स्पष्ट रूप से बात कर लेनी चाहिए जिससे न तो अंतर्मन दुखी होगा और न ही दूरियां बढेंगी. क्रोध एक ऐसा विषाणु है जो परिवार के परिवार समाप्त कर देता है.

क्रोधी व्यक्ति के सारे रिश्ते नाते समाप्त हो जाते हैं. कोई व्यक्ति उसके पास नहीं बैठता है और बात करनें से भी कतराता है जिस वजह से वह अकेलापन महसूस करने लगता है. सब उससे भयभीत रहते हैं कि पता नहीं वह कब क्रोधित हो जाए.

क्रोध में कई बार व्यक्ति की शालीनता, मानवता, अपनापन आदि का विलोप हो जाता है और क्रोध की ज्वाला में वह दूसरों के अरमानों, सपनों का खून कर बैठता है.


क्रोध की वजह से कई प्रकार की मानसिक और शारीरिक व्याधियां घेर लेती है जैसे कि अवसाद, तनाव, मानसिक असंतुलन, पागलपन, उच्च रक्तचाप, ह्रदयाघात. मधुमेह, अनिद्रा आदि.

क्रोध क्यों पैदा होता है? क्रोधी व्यक्ति की बुद्धि कार्य करना बंद क्यों कर देती है? ये कुछ ऐसे प्रश्न हैं जिनका उत्तर हमें खोजना होगा लेकिन यह भी स्पष्ट है कि जो व्यक्ति अपनी पीड़ा को स्पष्ट रूप से व्यक्त नहीं कर पाता वह व्यक्ति ही सबसे ज्यादा क्रोधी होता है.

Steps to control anger


क्रोध एक राक्षसी गुण होने के साथ साथ एक प्रमुख घरेलू समस्या है जिसका निराकरण अति आवश्यक है.

सर्वप्रथम, क्रोध आने पर हमें क्रोध वाले स्थान से चला जाना चाहिए या फिर हमें जिस बात पर क्रोध आ रहा है उससे ध्यान भटकाना चाहिए क्योंकि क्रोध एक क्षणिक आवेग होता है, जितनी जल्दी यह उत्पन्न होता है उतनी शीघ्रता से यह समाप्त भी होता है.

दूसरा, हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच बैठना चाहिए अर्थात हमें अकेला कम से कम रहना चाहिए क्योंकि अकेलापन कुतर्क और कूविचारों को जन्म देता है.

तीसरा, हमें समस्यायों को मिल बैठकर हल करने का प्रयास करना चाहिए और अगर ऐसा नहीं हो तो किसी की मध्यस्थता से इसे सुलझाना चाहिए.

चौथा, हमें अपना ध्यान थोड़ा बहुत धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यो में भी लगाना चाहिए जिससे मन शांत रहता है क्योंकि माहौल का बहुत प्रभाव पड़ता है.

पाँचवा, हमें दृढ़ संकल्प के साथ क्रोध को नियंत्रित करने का प्रण लेना चाहिए क्योंकि क्रोध पर अंतिम नियंत्रण हमारा दिमाग और हमारा मन ही कर सकता है.

क्रोध के परिणामों पर चिंतन करते हुए इस पर नियंत्रण करना अति आवश्यक है क्योंकि क्रोध नहीं रहने से हम शारीरिक और मानसिक रूप से तो स्वस्थ रहेंगे ही साथ ही साथ सामाजिक रूप से प्यार और दुलार भी पाएंगे.

About Author

Ramesh Sharma
M Pharm, MSc (Computer Science), MA (History), PGDCA, CHMS

Connect with us

Follow Us on Twitter
Follow Us on Facebook
Subscribe Our YouTube Travel Channel
Subscribe Our YouTube Healthcare Channel

Disclaimer

इस लेख में दी गई जानकारी विभिन्न ऑनलाइन एवं ऑफलाइन स्त्रोतों से ली गई है जिनकी सटीकता एवं विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. हमारा उद्देश्य आप तक सूचना पहुँचाना है अतः पाठक इसे महज सूचना के तहत ही लें. इसके अतिरिक्त इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी.

अगर आलेख में किसी भी तरह की स्वास्थ्य सम्बन्धी सलाह दी गई है तो वह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श जरूर लें.

आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं एवं कोई भी सूचना, तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार N24.in के नहीं हैं. आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति N24.in उत्तरदायी नहीं है.

0 Comments